सुभाष युवा मोर्चा द्वारा आजाद हिन्द सरकार स्थापना दिवस धूम-धाम से मनाया गया

 दिनांक 21 अक्टूबर 2019, दिन सोमवार सायं 5ः00 सुभाष युवा मोर्चा द्वारा नेताजी सुभाष चन्द्र बोस द्वारा स्थापित आजाद हिन्द सरकार का स्थापना दिवस सुभाष युवा मोर्चा के कार्यालय एफ-10, सुभाषिनी आफसेट, जगदीश नगर, गाजियाबाद पर मनाया गया। समारोह का शुभारम्भ नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के चित्र पर माल्यर्पण कर किया गया। समारोह का शुभारम्भ करते हुए सुभाष युवा मोर्चा संयोजक सतेन्द्र यादव ने कहा कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के नेत्ृत्व में आजाद हिन्द सरकार की स्थापना 21 अक्टूबर 1943 को सिंगापुर में की गई थी। नेताजी सुभाष चन्द्र बोस द्वारा आजाद हिन्द सरकार की सभी कार्यों योजनाओं का विस्तार पूर्वक वर्णन किया गया, कि किस प्रकार यह सरकार सम्पूर्ण भारतीयों के सर्वांगीण विकास को प्राप्त करेगी। आज के समय में गठित की गई आजाद हिन्द सरकार की योजनाओं द्वारा ही भारत को एक सूत्र में बांधकर भारत को विश्वगुरू बनाया जा सकता है। हमारे क्रान्तिकारी एक सम्पूर्ण सोच के साथ आजादी की लड़ाई लड़ रहे थे और नेताजी द्वारा आजाद हिन्द सरकार की स्थापना भी उसी सोच का परिणाम थी। सुभाषवादी भारतीय समाजवादी पार्टी (सुभास पार्टी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव ने कहा कि जो संघर्ष का रास्ता नेताजी सुभाष चन्द्र बोस द्वारा दिखाया गया है। उस पर अमल करते हुए हम भारत को श्रेष्ठ भारत बनायेंगे। आज भारत में लोकतांत्रिक सरकार है। लेकिन आज भी किस प्रकार लोकतंत्रिक ढांचे को बनाये रखते हुए भारत को प्रगति के पथ पर बढ़ाना है की प्रेरणा हमें नेताजी की आजाद हिन्द सरकार के विचारों से लेनी चाहिए। सुभाषवादी भारतीय समाजवादी पार्टी (सुभास पार्टी) के जिलाध्यक्ष बीर सिंह त्यागी ने कहा कि नेताजी हर वर्ग को साथ लेकर चलते थे जहाँ आज भी स्वतंत्र भारत में स्त्री बराबर का दर्जा पाने के लिए संघर्ष कर रही है। वहीं नेताजी ने उस समय भी महिलाओं का बराबर का दर्जा दिया और महिलाओं की रानी झांसी ब्रिगेड का निर्माण किया। इसी से पता चलता है कि नेताजी की सोच कितनी उच्च कोटि की थी। समारोह को मुख्य रूप मनोज शर्मा एडवोकेट, भाजपा पूर्व महानगर अध्यक्ष अमरदत्त शर्मा, गोपाल सिंह, सन्दीप कुमार, किशन गर्ग, राजेन्द्र गौतम, सुनील दत्त, रिंकू कुमार, जे. पी. द्विवेदी, जगदीश गोयल, उमेश दीक्षित, हरेन्द्र शर्मा, राहुल यादव, राजीव गौतम, दीपक शर्मा, राजीव राणा, सतेन्द्र कुमार, अरविन्द प्रजापति, नसरू मलिक, हरवीर सिंह आदि सैंकड़ों मुख्य रूप से उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *